Sunday, April 21, 2024
spot_img

बिना शिक्षक व प्रयोगशाला के विज्ञान पढ़ने को मजबूर हैं छात्र! अभिभावकों ने जताई चिंता

अल्मोड़ा जनपद के सोमेश्वर तहसील के ताकुला क्षेत्र के जीआईसी मनसारी नालाचौड़ा में न तो विज्ञान प्रयोगशाला है और न ही विज्ञान के शिक्षक। स्थापना के 19 साल बाद भी यहां प्रयोगशाला नहीं बन सकी। इसके बावजूद यहां बेहतर शिक्षा व्यवस्था के दावे किए जा रहे हैं। अभिभावकों ने शिक्षा विभाग पर बच्चों के भविष्य को गर्त में ले जाने का आरोप लगाया है।

जीआईसी मनसारी नालाचौड़ा में वर्ष 2004 में इंटर विज्ञान वर्ग संचालित हुआ। तब क्षेत्र के विद्यार्थियों में यहां विज्ञान का बेहतर ज्ञान मिलने की उम्मीद थी जो अधूरी रही। करीब 19 साल तक इंतजार के बाद भी यहां प्रयोगशाला नहीं बन सकी है। यहां आसपास के 10 से अधिक गांवों के 40 से अधिक विद्यार्थी विज्ञान की पढ़ाई के लिए पहुंचते हैं, लेकिन प्रयोगशाला न होने के कारण उन्हें विज्ञान का पूरा ज्ञान नहीं मिल पा रहा है, जिससे वह परेशान हैं। अभिभावकभी चिंतित हैं। यहां प्रयोगशाला न होने के कारण दो साल में क्षेत्र के 30 से अधिक विद्यार्थियों ने दूसरे विद्यालयों में प्रवेश ले लिया है। विद्यालय में विज्ञान विषय का एक भी शिक्षक भी नहीं है। भौतिक विज्ञान, रसायन विज्ञान के प्रवक्ता का पद दो साल से खाली है। इतिहास, हिंदी, संस्कृत, अर्थशास्त्र, रसायन विज्ञान, अंग्रेजी पढ़ाने के लिए प्रवक्ता की तैनाती नहीं हुई है। एलटी संवर्ग में भी कला शिक्षक नहीं है। इधर खंड शिक्षा अधिकारी विनय कुमार आर्या का कहना है कि रिक्त पदों की जानकारी उच्च अधिकारियों को दी गई है। जबकि प्रयोगशाला निर्माण का प्रस्ताव भी विभाग को भेजा गया है।

Related Articles

- Advertisement -spot_img

ताजा खबरे