Monday, February 6, 2023
spot_img

केंद्रीय रक्षा राज्य मंत्री अजय भट्ट ने हल्द्वानी शहर में घूम रहें आवारा गोवंशो को सुरक्षित स्थान पर स्थानांतरित करने के दिए निर्देश, हंस फाउंडेशन करेगा सहायता

हल्द्वानी- केंद्रीय रक्षा एवं पर्यटन राज्य मंत्री अजय भट्ट ने जिलाधिकारी नैनीताल को तत्काल हल्द्वानी शहर में घूम रहे आवारा गोवंशो को सुरक्षित अन्यत्र स्थान पर स्थानांतरित करने के निर्देश दिए हैं। भट्ट ने कहा है कि गोवंश के रखरखाव के लिए हंस फाउंडेशन ने मदद किए जाने का प्रस्ताव स्वीकार किया है।


केंद्रीय मंत्री अजय भट्ट ने जिलाधिकारी नैनीताल धीराज सिंह को पत्र लिखते हुए निर्देशित किया है कि हल्द्वानी शहर एवं राजपुरा क्षेत्र में घूम रहे आवारा गोवंश को सुरक्षित अन्यत्र स्थान पर स्थानांतरित किया जाना आवश्यक है। उन्होंने कहा कि पिछले दिनों वह राजपुरा निकट शिव मंदिर क्षेत्र में गणेश महोत्सव के दौरान स्वयं मौजूद थे, तब उन्होंने देखा की गणेश महोत्सव के दौरान लगभग 10-12 गोवंश एक साथ आकर वहां बैठे श्रद्धालुओं पर सींग मार कर हमला करने का प्रयास करने लगे। इस दौरान पूरे कार्यक्रम में भगदड़ भी मच गई। यही नहीं कुछ गाय बैल मंच की ओर भी चढ़ने का प्रयास करने लगे।

मंत्री भट्ट ने बताया कि स्थानीय लोगों ने लगातार आवारा गोवंश द्वारा किए जा रहे हमलों के बारे में अवगत कराया। लोगों ने कहा कि इससे पूर्व एक छोटे बच्चे पर भी गोवंश द्वारा हमला किया गया, जिस पर उसकी एक आंख बाहर निकल गई ।

स्थानीय लोगों के लिए यह एक गंभीर समस्या बनी हुई है और लोग अपने परिवार की सुरक्षा के प्रति बेहद चिंता में है। कहा कि लोगों ने उन्हें यह भी अवगत कराया है कि लगभग 15 सौ से 2 हजार गोवंश ऐसे हैं जिनके मालिकों ने उन्हें छोड़ दिया है और वह हिंसक हो गए हैं और इनके आतंक से पूरे क्षेत्र की जनता त्रस्त है।

भट्ट ने कहा कि इस विषय में उनके द्वारा दूरभाष पर पूज्य मंगला माता (हंस फाउंडेशन) से वार्ता की गई, जिसमें पूज्य माता जी द्वारा गौशाला बनाने एवं गौबंशो की व्यवस्था करने का आश्वासन दिया गया है तथा गौशाला निर्माण करने हेतु सरकार द्वारा भूमि लीज पर देने पर आगे की कार्रवाई करने को कहा है। लिहाजा भट्ट ने जिलाधिकारी को पत्र के माध्यम से निर्देश दिया है कि उपरोक्त प्रकरण को गंभीरता से लेते हुए तत्काल सरकारी भूमि का चयन किया जाए, ताकि हंस फाउंडेशन द्वारा गौशाला का निर्माण कराकर आवारा गोवंश को सुरक्षित स्थान पर पहुंचाया जा सके और स्थानीय लोगों को इस गंभीर समस्या से निजात मिल सके।

Related Articles

- Advertisement -spot_img

ताजा खबरे