Friday, June 2, 2023
spot_img

बागेश्वर : साइबर सैल द्वारा ऑनलाइन फ्रॉड के शिकार हुए 03 व्यक्तियों के खाते में वापस कराई 69,000 रु.की धनराशि

बागेश्वर ::- पुलिस अधीक्षक हिमांशु कुमार वर्मा जनपद द्वारा वर्तमान समय में बढ़ते साईबर क्राइम,ऑनलाईन धोखाधड़ी के अपराधों की रोकथाम व उनमें त्वरित कार्यवाही के लिए साईबर सैल एवं समस्त थाना प्रभारियों को साइबर अपराधों से सम्बन्धित शिकायतों में त्वरित कार्यवाही करने के लिए निर्देशित किया गया है। जिस क्रम में अंकित कंडारी, पुलिस उपाधीक्षक ऑपरेशन के पर्यवेक्षण में गठित साइबर क्राइम सैल द्वारा साइबर अपराध के प्रकरणों में प्रभावी कार्यवाही की जा रही है।


उक्त क्रम में साइबर सैल बागेश्वर द्वारा ऑनलाइन फ्रॉड के शिकार हुए निम्न 03 व्यक्तियों के खाते से आहरित धनराशि को वापस करवाने के लिए त्वरित अग्रिम तकनीकी जानकारी ज्ञात कर संबंधित से पत्राचार कर अग्रिम कार्यवाही की गई जिस क्रम में आहरित की गई पूर्ण धनराशि में से रु0 69,000 की धनराशि आवेदकों के खाते में रिफण्ड करवा दी गयी है।

जिसमें माधव सिंह को 35,000 रु.की धनराशि, जितेंद्र सिंह 24000 रु. की धनराशी,पंकज जोशी खाते में रिफण्ड करवाये 10,000 रु.की धनराशि।

साइबर ठगों से बचने के लिए इन बातों का रखें ध्यान

वर्तमान में प्रचलित साइबर ठगी जिसमें आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं के खाते में धनराशि देने के नाम पर साइबर ठगी का मामला प्रकाश में आया है। अपने लेनदेन की जानकारी किसी भी अनजान व्यक्ति को ना दें। किसी के भी कहने पर अपने कंप्यूटर या फोन में AnyDesk डाउनलोड न करें। किसी भी अनजान व्यक्ति को AnyDesk के जरिए अपने कंप्यूटर, फोन या डिवाइस का एक्सेस न दें।
फोन कॉल पर कोई भी पर्सनल या अकाउंट से जुड़ी जानकारी न दें। कोई बैंक कस्टमर केयर एग्जीक्यूटिव कभी भी बैंक अकाउंट यूजरनेम या पासवर्ड नहीं मांगेगा।
अपने पासवर्ड को सुरक्षित रखें। पासवर्ड किसी के साथ शेयर न करें। सुनिश्चित करें कि आपका यूजरनेम या पासवर्ड चोरी करने का कोई प्रयास नहीं किया गया है।अपने बैंक अकाउंट और ईमेल आईडी के पासवर्ड को समय-समय पर बदलते रहें। किसी भी लिंक या यूआरएल पर जाने से पहले उसे ध्यान से पढ़ें। कई बार बैंक जैसी दिखने वाली वेबसाइट,लिंक फर्जी होती है।


Related Articles

- Advertisement -spot_img

ताजा खबरे