Thursday, February 9, 2023
spot_img

विश्व मधुमक्खी दिवस! मीठी क्रांति से खुशहाल होंगे किसान– कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर

गुजरात। विश्व मधुमक्खी दिवस आज बड़े उत्साह के साथ मनाया गया। जिसमें केंद्रीय कृषि मंत्री ने कहा कि सरकार देश में “मीठी क्रांति” लाने के लिए प्रधान मंत्री के मार्गदर्शन में बहुत गंभीरता से काम कर रही है। इस अवसर पर केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर की उपस्थिति में टेंट सिटी-द्वितीय, एकता नगर, नर्मदा, गुजरात में राष्ट्रीय स्तर के समारोह का आयोजन किया गया। मंत्री तोमर ने गुजरात से वर्चुअल मोड में कार्यक्रम स्थल के साथ-साथ जम्मू और कश्मीर के पुलवामा, बांदीपुरा और जम्मू, कर्नाटक के तुमकुर, उत्तर प्रदेश के सहारनपुर, पुणे में महाराष्ट्र और उत्तराखंड में हनी परीक्षण प्रयोगशालाओं और प्रसंस्करण इकाइयों में एक प्रदर्शनी का उद्घाटन किया। तोमर ने कहा की प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का लक्ष्य छोटे किसानों को सशक्त बनाना है। उन्होंने कहा कि भारत की लगभग 55 प्रतिशत आबादी ग्रामीण है और देश तभी आगे बढ़ेगा जब ग्रामीण आबादी आगे बढ़ेगी।

केंद्र द्वारा वित्त पोषित योजना, ‘राष्ट्रीय मधुमक्खी पालन और शहद मिशन’ का उद्देश्य 5 बड़े क्षेत्रीय और 100 छोटे शहद और अन्य मधुमक्खी उत्पाद परीक्षण प्रयोगशालाएँ स्थापित करना है, जिनमें से 3 विश्व स्तरीय अत्याधुनिक प्रयोगशालाएँ स्थापित की गई हैं, जबकि 25 छोटी प्रयोगशालाएं स्थापित करने की प्रक्रिया चल रही है। भारत सरकार प्रसंस्करण इकाइयों की स्थापना के लिए भी सहायता प्रदान कर रही है। देश में 1.25 लाख मीट्रिक टन से अधिक शहद का उत्पादन किया जा रहा है, जिसमें से 60 हजार मीट्रिक टन से अधिक प्राकृतिक शहद का निर्यात किया जाता है। विश्व बाजार को आकर्षित करने के लिए घरेलू शहद का गुणात्मक उन्नयन लाने के लिए, भारत सरकार और राज्य सरकारें वैज्ञानिक तकनीकों को अपनाकर शहद के उत्पादन के लिए मधुमक्खी पालकों की क्षमता निर्माण पर ध्यान केंद्रित कर रही हैं।

Related Articles

- Advertisement -spot_img

ताजा खबरे