Tuesday, March 5, 2024
spot_img

रुद्रप्रयाग : केदारनाथ धाम की यात्रा को सुव्यवस्थित एवं सफलतापूर्वक संचालित करने के लिए सेक्टर एवं सहायक सेक्टर आँफिसरों को दिया गया प्रशिक्षण

रुद्रप्रयाग ::- वर्ष-2023 श्री केदारनाथ धाम की यात्रा को सुव्यवस्थित एवं सफलता पूर्वक संचालित करने के लिए आने वाले तीर्थ यात्रियों को सभी आवश्यक सुविधाएं उपलब्ध कराने के लिए यात्रा व्यवस्थाओं में तैनात किए गए सेक्टर एवं सहायक सेक्टर आँफिसरों को जिला कार्यालय सभागार में जिलाधिकारी मयूर दीक्षित की अध्यक्षता में उचित प्रशिक्षण उपलब्ध कराया गया ताकि यात्रा के सफल संचालन में किसी प्रकार की कोई परेशानी एवं दिक्कत न होने पाए।
केदारनाथ यात्रा के सफल संचालन के लिए जिलाधिकारी मयूर दीक्षित ने सेक्टर एवं सहायक अधिकारियों को संबोधित करते हुए कहा कि केदारनाथ धाम में दर्शन करने आने वाले तीर्थ यात्रियों को किसी प्रकार की कोई असुविधा न हो इसके लिए उन्होंने सेक्टर अधिकारियों से कहा कि उन्हें जो दायित्व एवं जिम्मेदारी दी गई हैं वे अपनी जिम्मेदारी एवं दायित्वों का निर्वहन कुशलता एवं संवेदनशीलता के साथ करें। उन्होंने कहा कि यात्रा व्यवस्था के सफल संचालन हेतु सेक्टर अधिकारियों एवं सहायक सेक्टर अधिकारियों की महत्वपूर्ण भूमिका है। उन्होंने सभी सेक्टर एवं सहायक सेक्टर अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि जिस भी सेक्टर में उनकी तैनाती की गई है वह उस क्षेत्र के सभी अधिकारियों, कार्मिकों, क्षेत्र के व्यापारियों एवं स्थानीय लोगों से बेहतर समन्वय स्थापित करें ताकि किसी भी प्रकार की व्यवस्था एवं समस्या का त्वरित निराकरण किया जा सके।
उन्होंने कहा कि यात्रा मार्ग में संचालित हो रहे घोड़े-खच्चरों के साथ किसी प्रकार की कोई क्रूरता न हो एवं बीमार व कमजोर घोड़े-खच्चरों का किसी भी दशा में संचालन न हो इसके लिए जी मैक्स द्वारा पोर्टल तैयार किया गया है जिसमें संचालित होने वाले घोड़े-खच्चर, मालिक एवं हाॅकर का पूरा विवरण उपलब्ध कराया गया है। यदि किसी के द्वारा किसी भी तरह से पशु क्रूरता एवं ओवर रेटिंग करता पाया जाता है तो उसका रजिस्ट्रेशन नंबर डालने से ही उसको ब्लाॅक करने की भी व्यवस्था की गई है। इस संबंध में उन्हें जो भी जानकारी दी जा रही है उस जानकारी को ठीक ढंग से ग्रहण कर लें ताकि यात्रा के दौरान किसी प्रकार की कोई परेशानी न हो।
जिलाधिकारी ने यह भी निर्देश दिए हैं कि सभी अधिकारी यह सुनिश्चित कर लें कि यदि यात्रा मार्ग में किसी प्रकार की कोई समस्या होती है तो जिसमें सफाई व्यवस्था से संबंधित, पानी, विद्युत, स्वास्थ्य, हैली से संबंधित आदि समस्याओं के त्वरित निराकरण के लिए संबंधित अधिकारियों के मोबाइल नंबर सभी सेक्टर एवं सहायक सेक्टर अधिकारियों के पास होना आवश्यक है ताकि वह तत्काल संबंधित अधिकारी को सूचना प्रेषित करते हुए संबंधित समस्या का त्वरित समाधान किया जा सके। उन्होंने यह भी निर्देश दिए हैं कि सभी अधिकारी आने वाले यात्रियों एवं सभी लोगों के साथ अपना मधुर व्यवहार रखें। उन्होंने कहा कि यदि किसी प्रकार की कोई समस्या है तो इसकी जानकारी तत्काल ग्रुप एवं संबंधित अधिकारी को प्रेषित किया जाए। उन्होंने यह भी निर्देश दिए हैं कि यात्रा व्यवस्था के संबंध में जो भी दैनिक सूचनाएं प्रेषित की जानी हैं उन सूचनाओं को तत्परता से गूगल सीट के माध्यम से उपलब्ध कराना सुनिश्चित करें।
इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी नरेश कुमार एवं उप जिलाधिकारी ऊखीमठ जितेंद्र वर्मा ने सेक्टर एवं सहायक सेक्टर मजिस्ट्रेटों को उनको सौंपे गए दायित्वों के बारे में पीपीटी के माध्यम से विस्तार से जानकारी उपलब्ध कराई गई।
इस अवसर पर प्रभागीय वनाधिकारी केदारनाथ इंद्र सिंह नेगी, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डाॅ. एचसीएस मार्तोलिया, उप जिलाधिकारी रुद्रप्रयाग अपर्णा ढौंडियाल, जिला पर्यटन अधिकारी राहुल चौबे, जिला आपदा प्रबंधन अधिकारी नंदन सिंह रजवार, प्रबंधक जी मैक्स रोहित सम्याल सहित संबंधित अधिकारी सेक्टर एवं सहायक सेक्टर मजिस्ट्रेट मौजूद रहे।

Related Articles

- Advertisement -spot_img

ताजा खबरे