Tuesday, March 5, 2024
spot_img

रुद्रप्रयाग : प्राथमिक विद्यालयों में अध्ययनरत छात्र-छात्राओं के बेहतर स्वास्थ्य के लिए उचित साफ-सफाई के लिए बच्चों को प्रेरित व जागरुक करने के उद्देश्य से डीएम ने डेटोल हाईजीनिक कार्यक्रम का किया शुभारंभ

रुद्रप्रयाग::- जनपद के प्राथमिक विद्यालयों में अध्ययनरत छात्र-छात्राओं के बेहतर स्वास्थ्य के लिए उचित साफ-सफाई के लिए बच्चों को प्रेरित व जागरुक करने के उद्देश्य से जिलाधिकारी मयूर दीक्षित ने राजकीय प्राथमिक विद्यालय रुद्रप्रयाग में डेटोल हाईजीनिक कार्यक्रम का शुभारंभ किया।

जिलाधिकारी ने कार्यक्रम का शुभारंभ करते हुए कहा कि बच्चों में गुणवत्ता शिक्षा उपलब्ध कराने के साथ-साथ उनका बेहतर स्वास्थ्य के लिए साफ-सफाई भी बहुत आवश्यक है जिससे कि बच्चों को खाने से पूर्व अनिवार्य रूप से हाथ धोने के लिए प्रेरित एवं जागरुक करने के लिए प्लान इंडिया ग्रुप के तहत जनपद के 100 प्राथमिक विद्यालयों का चयन किया गया है जिसमें इसके माध्यम से बच्चों को बेहतर साफ-सफाई व्यवस्था बनाए जाने के लिए बार-बार हाथ धोने के लिए प्रेरित करने के लिए कार्यक्रम आयोजित किए जा रहे हैं जिसमें अगस्त्यमुनि विकास खंड के 50 तथा विकास खंड जखोली के 50 विद्यालयों का चयन किया गया है।

जिलाधिकारी ने कहा कि प्राथमिक विद्यालयों में बच्चों की अनुपस्थिति का मुख्य कारण हाईजीन ही होता है जिसको लेकर छात्र-छात्राओं तथा उनके अभिभावकों में जागरुकता लाने की आवश्यकता है। जिलाधिकारी ने स्वस्थ शरीर के लिए साफ-सफाई का होना बेहद जरूरी है जिससे कि हाईजीन के प्रति जागरुक किया जा सके ताकि बच्चों के शरीर में किसी तरह कीटाणु के वजह से बीमार न पड़ें तथा प्राथमिक विद्यालयों में बच्चों की उपस्थिति शत-प्रतिशत सुनिश्चित हो सके। कार्यक्रम के दौरान जिलाधिकारी द्वारा प्राथमिक विद्यालय का पठन-पाठन के साथ-साथ साफ-सफाई एवं अन्य व्यवस्थाओं का जायजा लिया। विद्यालय में उचित साफ-सफाई व्यवस्था न पाए जाने एवं कक्षाओं में विद्युत व्यवस्था न होने पर जिलाधिकारी ने गहरी नाराजगी व्यक्त करते हुए विद्यालय के प्रधानाचार्य का स्पष्टीकरण करने के निर्देश दिए गए। इस अवसर पर जिलाधिकारी द्वारा बच्चों को डेटाॅल साबुन एवं सैनिटाइजर वितरित किए गए।

प्लान इंडिया के योगेश ध्यानी नेे अवगत कराया कि कार्यक्रम के तहत जनपद के बच्चों को साफ-सफाई के प्रति जागरुक करने के लिए जनपद के 100 प्राथमिक विद्यालयों का चयन किया गया है जिसमें बच्चों को उचित साफ-सफाई के लिए कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे ताकि हाथ धोने की सही प्रक्रिया विकसित हो सके जिससे कि बच्चे किसी भी तरह से बीमार न हों।

इस अवसर पर मुख्य शिक्षा अधिकारी विनोद प्रसाद सिमल्टी, प्रधानाध्यापक गोदाबंरी बिंदोला, डायट से इंदुकांता भंडारी, बीरेंद्र कठैत, पार्षद संतोष रावत सहित विद्यालय के छात्र-छात्राएं एवं शिक्षक-कर्मचारी मौजूद रहे।

Related Articles

- Advertisement -spot_img

ताजा खबरे