Tuesday, March 5, 2024
spot_img

फायर सीजन शुरू होने से पहले उत्तराखंड के जंगलों में भड़की आग, वन विभाग की चिंता बढ़ी; समय पर कार्रवाई की तत्काल आवश्यकता है

1/01/2024


पौडी, उत्तराखंड: ठंड के मौसम के बीच, उत्तराखंड के कई इलाकों में जंगल की आग देखी जा रही है, जिससे जनता और वन विभाग दोनों के लिए चिंताएं बढ़ गई हैं। आग के मौसम की आधिकारिक शुरुआत से पहले ही यह चिंताजनक स्थिति सामने आ रही है, जिससे आग से बचाव के उपायों की प्रभावशीलता को लेकर चिंता बढ़ गई है।

जानकारी के मुताबिक आमतौर पर फायर सीजन फरवरी से घोषित किया जाता है, लेकिन दिसंबर के आखिरी दिनों में श्रीनगर मार्ग के साथ ही डांग और नौडियाल गांव के पास के जंगलों में भी आग लगने की घटना हुई। हालांकि वन विभाग आग पर काबू पाने में कामयाब रहा, लेकिन इन घटनाओं ने जनता के लिए चिंताएं बढ़ा दी हैं।

अगर समय रहते प्रभावी कदम नहीं उठाए गए तो आने वाले दिनों में स्थिति और भी खराब हो सकती है, जिससे वन विभाग और आम जनता दोनों की चिंताएं बढ़ सकती हैं।

वन विभाग द्वारा तुरंत आग बुझाने के प्रयासों के बावजूद, आधिकारिक फायर सीजन से पहले जंगल में आग लगने की घटनाओं ने जनता के बीच आशंकाओं को बढ़ा दिया है। यह प्रभावी अग्नि सुरक्षा उपायों को लागू करने में जनता और वन विभाग के बीच सक्रिय भागीदारी और सहयोग की आवश्यकता पर जोर देता है।

वन विभाग आग लगाने में शामिल तत्वों पर कड़ी नजर रख रहा है और जिम्मेदार लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की तैयारी कर रहा है। गढ़वाल वन प्रभाग के वन क्षेत्र अधिकारी ललित मोहन नेगी ने वनों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए सभी से सहयोग का आग्रह किया। उन्होंने जंगलों की सुरक्षा में सामूहिक प्रयासों के महत्व पर जोर देते हुए कहा कि वन विभाग जंगलों में आग लगाने वाले तत्वों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करेगा।

चूंकि जंगल की आग पर्यावरण और वन्य जीवन दोनों के लिए खतरा पैदा करती है, इसलिए उत्तराखंड में अमूल्य पारिस्थितिकी तंत्र की रक्षा के लिए मजबूत आग रोकथाम रणनीतियों को प्राथमिकता देना और लागू करना महत्वपूर्ण है।

Related Articles

- Advertisement -spot_img

ताजा खबरे