Saturday, May 25, 2024
spot_img

उत्तरकाशी सुरंग बचाव: 9 दिनों से फंसे 41 मजदूरों के लिए आशा की किरण उभरी


उत्तराखंड के उत्तरकाशी में, जहां 41 मजदूर पिछले 9 दिनों से निर्माणाधीन सिल्कयारा सुरंग के अंदर जीवित रहने के लिए संघर्ष कर रहे हैं, एक उच्च स्तरीय बचाव अभियान चल रहा है। सुरंग के अंदर ड्रिल करने के असफल प्रयास के बाद, बचाव दल अब सुरंग के ऊपर एक सड़क बनाने और ऊर्ध्वाधर ड्रिलिंग करने की तैयारी कर रहे हैं।

सुरंग के बाहर काम करने वाले कर्मचारी अंदर फंसे अपने साथियों के लिए चिंता व्यक्त करते हैं और बताते हैं कि सुरंग निर्माण में रसायनों का उपयोग किया जाता है, जो अंदर की हवा और पानी को प्रदूषित करते हैं। फंसे हुए मजदूरों को कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा है क्योंकि सुरंग के ढहने के कारण अंदर फंसी गैसों ने उनके दैनिक जीवन को चुनौतीपूर्ण बना दिया है।

हालिया दुर्घटना के बाद, बचाव दल अब ताजी हवा की आपूर्ति और श्रमिकों को आवश्यक आपूर्ति प्रदान करने के लिए एक पतली पाइप का उपयोग कर रहा है। अंदर काम करने वालों को कंप्रेसर के जरिए ऑक्सीजन और ताजी हवा मिलती है, लेकिन निर्माण के दौरान निकलने वाली गैसों ने खतरनाक वातावरण बना दिया है। बचाव दल फंसे हुए मजदूरों के लिए ऊर्ध्वाधर ड्रिलिंग की सुविधा के लिए सुरंग के ऊपर एक सड़क बनाने पर ध्यान केंद्रित कर रहा है।

हालांकि चल रहे बचाव प्रयासों से आशा की किरण दिख रही है, सुरंग के भीतर गैसें एक महत्वपूर्ण खतरा पैदा करती हैं, जो ऑपरेशन की तात्कालिकता पर जोर देती हैं। स्थिति पर कड़ी नजर रखी जा रही है क्योंकि बचाव दल फंसे हुए मजदूरों को सुरक्षित निकालने के लिए अथक प्रयास कर रहे हैं।

Related Articles

- Advertisement -spot_img

ताजा खबरे