Tuesday, January 31, 2023
spot_img

रेलवे प्रशासन ने शुरू की एक स्टेशन एक उत्पाद योजना, स्थानीय उत्पादों को मिलेगा बढ़ावा

काशीपुर में रेलवे विभाग ने स्थानीय लोगों को रोजगार मुहैया कराने के मकसद से एक नई योजना शुरू की है जिसके तहत अब स्थानीय लोग अब रेलवे स्टेशनों पर भी अपने उत्पाद बेच सकेंगे। इसके लिए रेलवे प्रशासन ने स्थानीय उत्पादों को बढ़ावा देने के लिए “एक स्टेशन एक उत्पाद”योजना शुरू की है। इससे स्थानीय व्यक्तियों को रोजगार मिलने के साथ ही विभाग के राजस्व में भी बढोत्तरी होगी। दरअसल रेलवे बोर्ड के निर्देश पर रेलवे स्टेशनों पर स्थानीय उत्पादों की बिक्री के लिए एक स्टेशन एक उत्पाद योजना शुरू की है। पहले चरण में काशीपुर और रामनगर रेलवे स्टेशन पर प्रसिद्ध बाल मिठाई की विक्रय की गई। इसके लिए रेलवे ने विक्रेता से एक हजार रूपये मासिक शुल्क लिया है। इस योजना के तहत हर उत्पादक को 15 दिन के लिए ट्रायल तौर पर खोला गया है। सफलता मिलने पर विक्रेता से अनुबंध हो सकेगा। इससे स्थानीय लोगों को रोजगार मिलेगा। साथ ही क्षेत्र की प्रसिद्ध वस्तुओं, हस्तशिल्प, हथकरघा, पारंपरिक शिल्प आदि को बढावा मिलेगा। पड़ोसी राज्य उत्तर प्रदेश के पीतल के लिए मशहूर जिला मुरादाबाद के रेलवे स्टेशन पर पीतल के उत्पादों की बिक्री करने वाले इलियास साबरी ने भारत सरकार तथा भारतीय रेलवे को धन्यवाद अदा करते हुए कहा कि रेलवे की वजह से दूरदराज क्षेत्रों के ट्रेनों से आवागमन करने वाले लोगों के द्वारा उनकी कला को पसंद किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि उनके पास पास है वह 100 रुपये से लेकर 750 रुपये तक के हैं। उन्होंने कहा कि भारतीय रेलवे ने तथा भारत सरकार ने इस योजना के माध्यम से कलाकारों की कला को उभारा है।

Related Articles

- Advertisement -spot_img

ताजा खबरे