Monday, April 15, 2024
spot_img

संदिग्ध परिस्थितियों में आम के बाग में बंदरों के शव मिलने से इलाके में हड़कंप, बगीचे की रखवाली कर रहे 9 लोगो को पुलिस ने किया गिरफ्तार

काशीपुर। उधमसिंहनगर के बाजपुर रोड स्थित आम के बाग में कई बंदरों के शव मिलने से सनसनी फैल गई। अचानक इतने अधिक बंदरों की एक साथ संदिग्ध परिस्थितियों में मौत के बाद वन विभाग की टीम और स्थानीय पुलिस ने बंदरों के शव को पोस्टमॉर्टम के लिए पशु चिकित्सालय भेज दिया है। साथ ही आम के बाग की रखवाली करने वाले 9 लोगों को हिरासत में ले लिया है।

मामले के अनुसार, बाजपुर रोड स्थित आम के बाग में एक साथ कई बंदरों के शव मिलने से सनसनी फैल गई। एक साथ बाग में इतने सारे बंदरों के एक साथ मौत और उनके शव मिलने की सूचना पर बाग में तमाम लोगों का हुजूम उमड़ पड़ा। सूचना मिलने पर वन विभाग की टीम और स्थानीय पुलिस प्रशासन की टीम मौके पर पहुंची और बंदरों के शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए पशु चिकित्सालय ले आयी। वहीं पुलिस ने कई एकड़ में फैले आम के बाद के रखरखाव करने वाले लोगों को हिरासत में ले लिया है।

स्थानीय लोगों ने एक बंदर के बच्चे को अपनी मां से लिपट कर रोते हुए देखा तो उन्हें आसपास और भी बंदर मृत अवस्था में मिले। गांव के लोगों ने उस बंदर के बच्चे को अपने घर ले जाकर सुरक्षित रखा तो वही आसपास के लोगों ने जब आम के बाग में आकर देखा तो और कई एकड़ में फैले आम के बाग में उन्हें जगह-जगह दुर्गंध आती दिखी जब उन जगहों को खोदकर देखा गया तो उन्हें खड्डे में दबे हुए अनेको बंदर मिले। आसपास के रहने वाले स्थानीय लोगों के मुताबिक पिछले 15 वर्षों से इस आम के बाग को मालिकों के द्वारा ठेके पर दिया जाता रहा है। स्थानीय लोगों ने आम के बाग में नुकसान से बचाव करने के लिए आम के बाग की रखवाली करने वालों ने जहर देकर बंदरों को मारने का आरोप लगाया। जिसके बाद स्थानीय लोगों ने आम की रखवाली करने वाले सभी लोगों को मौके पर ही दबोच लिया और तुरंत पुलिस को सूचना दी। थाना आईटीआई इंचार्ज आशुतोष कुमार सिंह सहित पुलिस टीम मौके पर पहुंच गई और मामले की गंभीरता को देखते हुए लोगों को शांत कर आरोपियों को हिरासत में ले लिया।

आईटीआई थाना इंचार्ज आशुतोष कुमार सिंह ने बताया कि पुलिस ने बाग की रखवाली करने वाले सभी 9 लोगों को हिरासत के ले लिया है। वही मृत बंदरों के शवों को कब्जे में लेकर पशु चिकित्सालय पोस्टमार्टम के लिए लाया गया है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में आकर बंदरों को जहर देकर मारने का मामला प्रकाश में आया तो ऐसे लोगों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई अमल में लाई जाएगी। फ़िलहाल, आरोपियों को गिरफ्तार कर उन्हें जेल भेजने की कार्रवाई की जा रही है।

उधर, एसएसपी उधमसिंहनगर मंजुनाथ टीसी ने कहा कि इस घटनाक्रम में जांच के बाद 9 लोगों को इतने सारे बंदरों को एक साथ जहर देकर मारने के जघन्य कृत्य में शामिल आरोपियों को तत्काल गिरफ्तार कर लिया गया है और सम्बंधित धाराओं में मुकदमा दर्ज कर लिया है। इन आरोपियों को कोर्ट में पेश भी किया जा रहा है। साथ ही कहा कि उत्तराखंड देवभूमि है और जो लोग प्रकर्ति से खिलवाड़ करते है विशेष रूप से जानवरों के साथ, हम उन्हें नहीं छोड़ेंगे। साथ ही अभियुक्तों का आपराधिक इतिहास खंगाला जा रहा है और जरूरत पड़ने पर गुंडा एक्ट की करवाई भी अमल में ली जाएगी।

Related Articles

- Advertisement -spot_img

ताजा खबरे