Monday, May 20, 2024
spot_img

नैनीताल: शहरी नियोजन के लिए हाई लेवल कमेटी द्वारा उत्तराखंड प्रशासनिक अकादमी में शहरी विकास व एटीआई के संयुक्त सौजन्य से दो दिवसीय कार्यशाला का आयोजन

नैनीताल ::- शहरी नियोजन के लिए हाई लेवल कमेटी (उच्च स्तरीय समिति) द्वारा उत्तराखंड प्रशासनिक अकादमी में शहरी विकास व एटीआई के संयुक्त सौजन्य से दो दिवसीय कार्यशाला का आयोजन किया गया। कार्यशाला में उच्च स्तरीय समिति के अध्यक्ष केशव वर्मा ने शहरी नियोजन के महत्व पर विस्तार से प्रकाश डाला। उन्होंने क्षेत्रीय विकास रणनीति और स्थानीय आर्थिक वृद्धि पर भी जोर दिया। कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के निर्देशानुसार मास्टर सिटीज़ के सहयोग व सलाह के लिए हाई लेवल समिति का गठन किया गया है जिसमें शहरों में आने वाली नई चुनौतियों, स्थानीय पर्यावरण, क्षमता व शहर की उपयोगिता के सम्बंध में सलाह व सहयोग समिति द्वारा दिया जाएगा।

महानिदेशक एटीआई बीपी पांडेय ने कहा कि आपसी समन्वय से जनपद नैनीताल के पर्यावरणीय मुद्दे, शहरी विकास, ट्रैफिक पुलिस व काफी संख्या में आने वाले पर्यटकों की समस्या पर कार्य कर बेहतर किया जा सकता है। उन्होंने धीरे- धीरे कम हो रही जलापूर्ति व उच्च विद्युत खपत पर भी जोर दिया।
इस अवसर पर अपर सचिव,निदेशक शहरी विकास नवनीत पांडेय ने पर्वतीय राज्य उत्तराखंड के शहरी नियोजन व रणनीति पर भी चर्चा की। उन्होंने बताया कि राज्य स्तर पर शहरी नियोजकों की आंतरिक क्षमता के विकास हेतु राज्य नगरीय विकास संस्थान का गठन नैनीताल में किया गया है।
इस अवसर पर महानिदेशक एटीआई बीपी पांडेय, प्रोफेसर सास्वत बंदोपाध्याय, समिति के सदस्य जिगनेश मेहता, नियोजक मोहम्मद मोनिस खान, मोह्निस कपूर सहित 40 शहरी निकायों के प्रतिनिधि, हरिद्वार, देहरादून, रुड़की सहित 07 शहरों के मास्टर प्लान तैयार करने वाली फर्मों के कंसल्टेंट उपस्थित थे।

Related Articles

- Advertisement -spot_img

ताजा खबरे