Monday, April 15, 2024
spot_img

श्रीलंका संकट! डूबती अर्थव्यवस्था को बचाने के लिए प्रधानमंत्री रानिल विक्रमसिंघे ने श्रीलंकाई एयरलाइंस के निजीकरण का किया ऐलान

श्रीलंका। आर्थिक संकट से जूझ रहें श्रीलंका में हालात बिगड़ते ही जा रहें हैं। इस बीच सोमवार को श्रीलंका के प्रधानमंत्री रानिल विक्रमसिंघे ने कहा कि मैं श्रीलंकाई एयरलाइंस के निजीकरण करने का प्रस्ताव करता हूं, जो इस समय घाटे में चल रही है। इसके अलावा प्रधानमंत्री ने यह भी कहा कि उनका उद्देश्य संकटग्रस्त देश को बचाना है। साथ ही उन्होंने श्रीलंका के लोगों को बताया है कि दैनिक बिजली कटौती दिन में 15 घंटे तक बढ़ सकती है, क्योंकि देश के पास सिर्फ एक दिन के लिए पेट्रोल का स्टॉक बचा हुआ है।

एयरलाइंस के निजीकरण का प्रस्ताव देते हुए उन्होंने कहा कि यह एक नुकसान है लेकिन हमें संकटग्रस्त देश को बचाने के लिए इसे सहन करना ही पड़ेगा।

पेट्रोल का स्टॉक खत्म होने के कगार पर
श्रीलंकाई पीएम ने कहा कि हम कई गंभीर चिंताओं का सामना कर रहे हैं। लंबी लंबी कतारों को आसान बनाने के लिए हमें अगले कुछ दिनों में लगभग 75 मिलियन अमरीकी डॉलर प्राप्त करने होंगे। फिलहाल हमारे पास सिर्फ एक दिन के लिए पेट्रोल का स्टॉक है। हाल ही में आए डीजल शिपमेंट से डीजल की कमी कुछ हद तक दूर हो जाएगी।

Related Articles

- Advertisement -spot_img

ताजा खबरे