Monday, February 6, 2023
spot_img

उत्तराखंड में हुई खेल महाकुंभ की शुरुआत

रायपुर।उत्तराखंड में शनिवार से खेल महाकुंभ 2022 का आगाज हो गया। राज्यपाल लेफ्टिनेंट जनरल गुरमीत सिंह (सेनि) ने राजीव गांधी नवोदय विद्यालय, रायपुर में खिलाड़ियों को खेल मशाल सौंपकर खेल महाकुंभ की शुरुआत की। उन्होंने कहा कि खेल महाकुंभ प्रदेश में बेहतर खेल वातावरण तैयार करने में उपयोगी साबित होंगा। इस तरह के खेल आयोजनों से प्रतिभाशाली खिलाड़ियों को आगे बढ़ने का अवसर मिलेगा।

राज्यपाल ने कहा कि खेल में भाग लेने वाले हर खिलाड़ी को यह बात ध्यान रखनी होगी कि खेलों में केवल शारीरिक बनावट और ताकत के बल पर जीत नहीं मिलती, बल्कि इसके लिए निरंतर अभ्यास, एकाग्रता और बौद्धिक क्षमता का भी परिचय देना होता है। उन्होंने कहा कि जीत की भावना से खेलें और देश एवं प्रदेश का नाम रोशन करें।

38वें राष्ट्रीय खेलों के आयोजन की जिम्मेदारी उत्तराखंड को दी गई है जिस पर हमें खरा उतरना होगा। इसके लिए युवा अभी से अपने लक्ष्य और अपनी तैयारियों पर ध्यान केंद्रित करें। राज्यपाल ने कहा कि खेल महाकुंभ में विभिन्न वर्गों में प्रतियोगिताओं के साथ दिव्यांग खिलाड़ियों को विशेष अवसर दिए जा रहे है। इससे कोई भी प्रतिभा अवसरों से वंचित नहीं रहेगी जो सराहनीय पहल है।

खेल मंत्री रेखा आर्य ने कहा कि ऐसे आयोजनों से राज्य से हुनरमंद खिलाड़ी चयनित होंगे। यही खिलाड़ी आगे जाकर उत्तराखंड का नाम राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर चमकाएंगे। उन्होंने कहा कि खेल महाकुंभ का मकसद दूरस्थ क्षेत्रों में मौजूद प्रतिभा को निखार कर बाहर लाना है। कार्यक्रम में विधायक उमेश शर्मा काऊ, विशेष प्रमुख सचिव अभिनव कुमार, निदेशक युवा कल्याण जितेंद्र कुमार सोनकर, अपर निदेशक राकेश चंद्र डिमरी, राजीव गांधी नवोदय विद्यालय की प्रधानाचार्य सुनीता भट्ट सहित विभागीय अधिकारी और खेल महाकुंभ में प्रतिभाग करने वाले युवा उपस्थित रहे।

15 जनवरी 2023 तक होंगी प्रतियोगिताएं
खेल मंत्री रेखा आर्य ने कहा कि न्याय पंचायत, ब्लॉक, जिला और राज्य स्तर पर आयोजित की जाने वाली प्रतियोगिताओं में दो लाख से अधिक खिलाड़ी शामिल होंगे। खेल महाकुंभ के तहत आज से शुरू होने वाली प्रतियोगिताएं 15 जनवरी 2023 तक चलेंगी।

Related Articles

- Advertisement -spot_img

ताजा खबरे