Wednesday, February 21, 2024
spot_img

सरकारी योजना का लाभ लेने के लिए बनाये फर्जी आय प्रमाम पत्र, जांच में फंसे, मुकदमा दर्ज।

नंदा गौरा योजना का लाभ लेने के लिए उधमसिंह नगर जिले के 81 माता पिता ने अपनी आय में ही कटोती कर डाली और फिर फर्जी आय प्रमाण पत्र बनाकर योजना का लाभ लेने के लिए सूची में छात्रा ने आवेदन करा दिया , लेकिन इन होशियार माता पिता को नहीं पता था कि एक दिन पोल खुल जाएगी, और इनको चंद पैसों का लालच कितना भारी पड सकता है, लिहाजा अब इनको हवालात की सैर भी करनी पड सकती है। तो कैसे हुआ ये फर्जी आय प्रमाम पत्रों का खेल और क्या होने वाली है कार्यवाही देखें हमारी ये खास रिपोर्ट। 

नंदा देवी कन्या धन योजना के अंतर्गत प्रदेश की बालिकाओं को आर्थिक सहायता राशि वितरण की जाती है। बालिका के जन्म के समय में बिटिया के माता-पिता को 11 हजार रुपये की राशि एवं बारहवीं कक्षा पास करने पर 51 हजार रुपये की राशि लाभार्थी बालिका के बैंक खाते में ट्रांसफर की जाती है। इस योजना का उद्देस्य है कि नंदा बालिकाओं को उच्च शिक्षा हेतु आर्थिक सहायता उपलब्ध करना है ताकि किसी भी लड़की को उच्च शिक्षा ग्रहण करने में कोई परेशानी न हो और वह उच्च शिक्षा प्राप्त करके अपने सपनों को साकार कर सके। लेकिन सरकार की एसी बहुआयामी योजना का लाभ उठाने के लिए जिस तरह का फर्जीवाड़ा सामने आया है उसने विभाग के साथ ही प्रशासन को भी हैरानी में डाल दिया है। दरअसल आवेदनों के सत्यापन में 81 एसे आवेदन मिले है जिनके आय प्रमाण पत्र फर्जी पाय़े गये हैं, जिनपर जिले के विभिन्न तानों में मुकदमा भी दर्ज कराया गया है। 

81 एसे आवेदक चिन्हित हुए है, जिनके दस्तावेजों में फर्जी आय प्रमाण पत्र लगे हैं, जिनके खिलाफ मुकदमा भी दर्ज कर दिया गया, दरअसल बाल विकास परियोजना के तहत नंदा गौरा योजना के लिए फर्जी दस्तावेजों के जरिए लाभ लेने वालों के खिलाफ कार्रवाई करने के लिए डीएम की ओर से निर्देश दिए गए हैं। बीते दिनों जांच में पता चला कि जिले भर में करीब 81 ऐसे आवदक थे जिनके दस्तावेज फर्जी थे, जिनमें खास तौर पर आय का फर्जी प्रमाणपत्र लगाकर गुमराह करने का प्रयास किया गया, साथ ही योजना का लाभ लेने के लिए अपनी आय ही कम कर दी, इस मामले में जब जांच शुरू हुई तो कई लोगों के प्रमाण पत्र फर्जी पाए गए, लिहाजा अब सभी के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने की तैयारी पूरी कर ली गयी है, जिसके लिए जिले के विभिन्न थानों में मुकदमा दर्ज करने के निर्देश दिये गये हैं।

Related Articles

- Advertisement -spot_img

ताजा खबरे